PVCHR


We can change any thing with unity...

Solidarity letter from Germany on Muzzafarnagar riots

Anti Torture Initiative, Anti Violence Initiative, Campaign

Solidarity from Germany on Muzzafarnagar riots.Urgent appeal of PVCHR as follows:
http://www.pvchr.net/2014/01/
urgent-appeal-truth-of-riot-victims-of_12.html
Read more...

..जब इटली से आए विदेशियों ने यहां लगाई दिलचस्प पंचायत!

Achievement, Anti Torture Initiative, Child Centric Model Block


 इटली से आए 32 लोगों की एक टीम ने पिंडरा ब्लाक के सराय गांव के मुसहर बस्ती में अपनी पंचायत लगाई। बेरोजगारी और अशिक्षा की वजह से इस बस्ती के लोग बंधुआ मजदूरी के चंगुल में दशकों फंसे थे।

मानवाधिकार जन निगरानी समिति के अचूक प्रयासों की वजह से आज पूरा गांव इस दलदल से बाहरचुका है। इन ग्रामीणों के संघर्ष कि दिलचस्प कहानी को सुनने और जांबाज़ी को सलाम करने इटली से यह टीम यहां पहुंची।

ग्रामीण राम दयाल ने बताया कि मानवाधिकार जननिगरानी ने 2004 में इस गांव में लोगों को एकजुट करना शुरू किया, जब यहां पर लोग बंधुआ मजदूरी करते थे। यहां इन लोगों के पास जीवन जीने के लिए कोई भी मूलभूत सुविधाए उपलब्ध नहीं थी। लोग दबंगों से बहुत डरे और सहमे रहते थे।

इसके बाद बस्ती में धीरे-धीर लोगों में जागरूकता बढ़ी और योजनाओं तक लोगों की पहुंच बढ़ी। महासचिव डॉ लेलिन ने बताया कि ये विदेशी उन दलितों मुसहर जाति के लोगों से प्रभावित हैं, जो कभी गुलाम हुआ करते थे। बंधुआ मजदूरी के गर्त में डूबे हुए थे। आज की इस बदली हुई तस्वीर को देखने ही इटली से इतने सारे लोग यहां आए हैं।

क्या कहा इटली से आई टीम ने

फादर बरनैडो सर्वेलेरा ने बताया कि ग्रामीणों में गजब का आत्मविश्वास है। इन लोगों ने जीवन की दिशा और दशा दोनों को बदला है। इटली से आए अन सभी लोगों ने इनके संघर्ष की लड़ाई से बहुत कुछ सीखा है।

हम इसे इटली के लोगों को बताएंगे कि कैसे संसाधन विहीन समुदाय ने संघर्ष से अपने जीवन को खुशहाल बनाया है। फादर बरनैडो सर्वेलेरा ने कहा कि हर ईसाई और कैथोलिक उनके अहिंसात्मक संघर्षों के साथ है।

आगे देखें इटली से आए इन लोगों ने कैसे जानी गांव वालों की दास्तां...
http://www.bhaskar.com/article/UP-VAR-father-bernardo-cervellera-team-panchayat-with-musahar-community-4489458-PHO.html

Read more...

Testimonial Therpay initiative of Dignity and PVCHR at website of Inter-American Human Rights Court

Achievement, Anti Torture Initiative, Anti Violence Initiative

A research paper on PVCHR-DIGNITY - Danish Institute Against Torture joint initiative of testimonial therapy published in library of Inter-American Court of Human Rights (http://www.corteidh.or.cr/index.php/en/about-us).


Please click and read:
http://www.corteidh.or.cr/tablas/r23530.pdf


मुजफ्फरनगर के दंगा पीड़ितों के राहत शिविर का सच : कराहती मानवता

Anti Torture Initiative, Anti Violence Initiative, Take Action

ऐसे में जरूरत है कि विभिन्न राजनैतिक पार्टिया अपनी –अपनी रोटियाँ सेंकने के और जनता को गुमराह करनेएक दुसरे पर दंगे की जिम्मेदारी डालने के बजाय दंगा पीड़ितों के तन से गहरे मन के घावों को भरने के प्रयास में मिलकर काम करें | पीड़ितों के इज्जत, आशा, मानवीय गरिमा को ध्यान में रखते हुए अविलम्ब बिना किसी भेदभाव के नागरिक अधिकार संरक्षित करते हुए पुनर्वासित किये जाने की लम्बे समय तक कार्यक्रम चलाना होगा, जिसमें मनोवैज्ञानिक एवं सामाजिक सम्बल के पहल को महत्व देना होगा |

http://www.pvchr.net/2013/12/blog-post.html

Read more...

Older news.

LETS MAKE OUR FUTURE BRIGHT

How we work!!!

Fighting caste discrimination
The life narratives, voices, and actual experiences on this website reflect the spiritual awakenings of personalities extraordinaire who desired to make a difference in the lives of others. The passion for social justice and meaningful activities, the dedication to compassion, the commitment and healing journeys of those ordinary individuals and their stirring stories is what we intend to showcase.

PVCHR founded in 1996 by Mr. Lenin Raghuvanshi and Ms. Shruti Nagvanshi in close association with Sarod Mastro Pandit Vikash Maharaj, Poet - Gyanendra Pati and Historian Mahendra Pratap. PATRON: Justice Z.M Yacoob Sitting Judge Constitution Court of South Africa & Chancellor of University of Durban, South Africa.